मुख पृष्ठ
Home
 
सहकारिता मंत्री का सदन में ऋण माफी पर वक्तव्य..........2 नए फसली ऋण के लिए 9 लाख 34 हजार 777 किसानों ने अब तक कराया ऑनलाईन पंजीयन
जयपुर, 24 जुलाई। सहकारिता मंत्री श्री उदयलाल आंजना ने बुधवार को राज्य विधानसभा में कहा कि गत सरकार की ऋण माफी में हुई गड़बड़ियों से सबक लेते हुए सरकार ने निर्णय लिया कि फसली ऋण वितरण में एक भी पात्र किसान वंचित नहीं रहे। अतः किसानों के हित में 27 मई को आचार संहिता समाप्त होने के तत्काल बाद ही 3 जून 2019 को सहकारी फसली ऋण ऑनलाईन वितरण एवं पंजीयन योजना को लागू कर दिया गया। इसके बाद 11 जुलाई को मुख्यमंत्री की उपस्थिति में ऑनलाइन ऋण वितरण शुरू कर दिया गया है। श्री आंजना सदन में पीएम किसान योजना, ऋण माफी, नए ऋण वितरण एवं फसल बीमा से सम्बन्धित वक्तव्य दे रहे थे। उन्होने कहा कि इस पारदर्शी पहल के तहत अब तक 9 लाख 34 हजार 777 किसानों ने ऑनलाईन पंजीयन करा लिया है। अब तक 2 हजार 239 करोड़ रूपये की (एम.सी.एल.) अधिकतम साख सीमा स्वीकृत की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि सहकारी बैंकों द्वारा खरीफ फसली ऋण वितरण 31 अगस्त तक किया जाता है। तय समय तक किसानों को फसली ऋण वितरण का प्रयास किया जा रहा है। सरकार की मंशा साफ है कि किसानों लाभ शीघ्र मिले। इस प्रक्रिया में और तेजी लायी जाएगी। सहकारिता मंत्री ने कहा कि ऑनलाईन अल्पकालीन पंजीयन ऋण वितरण पोर्टल के अनुसार पैक्स द्वारा अब तक 2 लाख 54 हजार 669 कृषकों को अल्पकालीन फसली ऋण वितरण करने के लिए अनुमोदन कर दिया गया है। 33 हजार 894 किसानों को कुल राशि 92 करोड़ 58 लाख रूपये का अल्पकालीन फसली ऋण किसानों के खातो में डीएमआर (डिजीटल मेम्बर रजिस्टर) के माध्यम से स्थानान्तरित कर दिया गया है।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.