मुख पृष्ठ
Home
 
पैक्स के नये सदस्य किसान भी फसली ऋण के लिये कर सकेंगे आवेदन फसली ऋण पोर्टल पर आवेदन की हुई शुरूआत
जयपुर, 19 जुलाई। सहकारिता मंत्री श्री उदय लाल आंजना ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की मंशा के अनुरूप सहकार फसली ऋण ऑनलाइन आवेदन एवं वितरण योजना के तहत ग्राम सेवा सहकारी समितियों के नये सदस्य किसानों को फसली ऋण के लिये आवेदन की शुरूआत कर दी गई है। उन्होंने कहा कि सरकार की स्पष्ट सोच है कि जिन सदस्य किसानों को अभी तक फसली ऋण नहीं मिला है उन्हें भी फसली ऋण प्रदान किया जाए। श्री आंजना ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 11 जुलाई को ऑनलाइन फसली ऋण वितरण के राज्य स्तरीय समारोह में नये सदस्य किसानों को भी फसली ऋण से जोड़ने के निर्देश दिये थे। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना में फसली ऋण पोर्टल पर नये सदस्य किसानों से आवेदन प्राप्त करना प्रारम्भ कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि फसली ऋण से राज्य के 10 लाख नये सदस्य किसानों को भी जोड़ा जायेगा। उन्होंने कहा कि पैक्स एवं लैम्पस् का कोई भी सदस्य किसान, जिसको अभी तक फसली ऋण नहीं मिल पाया है वह निर्धारित प्रारूप में ई-मित्र केन्द्र या पैक्स या लैम्पस् पर जाकर फसली ऋण के लिये ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। उन्होंने कहा कि 3 जून, 2019 को पूर्व में फसली ऋण का लाभ ले रहे सदस्य किसानों के लिये ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया प्रारम्भ की गई थी। इसे आगे बढ़ाते हुए अब नये सदस्य किसानों को भी फसली ऋण से जोड़ने के लिए आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। सहकारिता मंत्री ने बताया कि वर्ष 2019-20 में सदस्य किसानों को 16000 करोड़ रूपये का फसली ऋण वितरण का लक्ष्य रखा गया है जिसमें से 10000 करोड़ का फसली ऋण खरीफ सीजन में सदस्य किसानों को वितरित किया जा रहा है तथा 6000 करोड़ रूपये का फसली ऋण रबी सीजन में सदस्य किसानों को वितरित किया जायेगा। उन्होंने सदस्य किसानों का आव्हान किया कि वे सरकार की इस योजना का लाभ लें तथा समय रहते ऑनलाईन आवेदन करें ताकि शीघ्र ही उनका फसली ऋण स्वीकृत किया जा सके।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.