मुख पृष्ठ
Home
 
अन्तर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस का आयोजन प्रतिभाओं को तराशेगी सहकारी संस्थाएं आईएएस प्री परीक्षा उतीर्ण 10 विद्यार्थियों को मिलेगी निःशुल्क सुविधा सहकारिता क्षेत्र में पर्यटन को दिया जायेगा बढ़ावा
जयपुर, 6 जुलाई। रजिस्ट्रार सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने कहा कि राज्य की सहकारी संस्थाएं पिछडे क्षेत्रों की प्रतिभाओं को कम शुल्क पर कोचिग सेन्टर एवं खाने व रहने की निःशुल्क सुविधा उपलब्ध कराकर उन्होंने आगे बढ़ने का मौका प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि इसी वर्ष आईएएस प्री परीक्षा में उतीर्ण होने वाले 10 विद्यार्थियों को राइसेम संस्थान में निःशुल्क सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी तथा समय-समय पर तैयारी हेतु उत्कृष्ट विशेषज्ञो से मार्गदर्शन एवं कोचिग भी दी जाएगी। डॉ. पवन यहां सहकार भवन में 97वें अन्तर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस एवं 25वें यूएन डे ऑफ को-ऑपरेटिव्ज के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संसाधनों के अभाव में कोई भी बच्चा पीछे नहीं रहना चाहिए। हमारा दायित्व है कि सहकारिता के माध्यम से ऐसे विद्यार्थियों को आगे बढने का मौका दिया जाये। रजिस्ट्रार ने कहा कि राज्य में सहकारिता के क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा दिया जायेगा और इस ओर सहकारी समितियों को प्रेरित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जोधपुर में रूफ टॉप रेस्टोरेन्ट की शुरूआत करने जा रहे है तथा आगे राजस्थान के प्रमुख पर्यटन जिलों में पर्यटकों के लिए ऑनलाइन रजिस्टेªशन एवं रहने कि उच्च स्तरीय सुविधाएं प्रदान करने की कार्ययोजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सहकारी संस्थाएं उत्सव एवं त्यौहार के पर्व पर लोगों से जुडी गुणवत्तापूर्ण सेवाएं प्रदान करे। उन्होंने कहा कि फसली ऋण वितरण, ऑनलाइन खरीद जैसी व्यवस्थाओं नवाचार अपनाये गये है जिससे वास्तविक किसान को लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि सेवा क्षेत्र में सहकारी संस्थाएं आगे बढ़े जिससे उपभोक्ताओं को उचित दाम पर सही एवं गुणवतापूर्ण सेवाएं प्रदान हो सके। उन्होंने संकल्प जताया कि वर्ष 2020 तक जिले की 20-20 ग्राम सेवा सहकारी समितियों को विभिन्न नवाचारों से आगे बढ़ाकर उनकी आमदनी में वृद्धि के प्रयास किए जाएंगे। रजिस्ट्रार सहकारिता ने इस अवसर पर सहकारिता क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 5 ग्राम सेवा सहकारी समिति की व्यवस्थापकों को सम्मानित किया। पलसाना (सीकर) जीएसएस के व्यवस्थापक श्री महादेव सिंह, बोरखेड़ा (कोटा) के व्यवस्थापक श्री चेतराम मीणा, फलसूंड़ (जैसलमेर) के श्री रतन सिंह राजपुरोहित, निमोद (नागौर) के श्री सुभाष चन्द भार्गव एवं ऊजोली (अलवर) के व्यवस्थापक श्री रामजस को ट्राफी प्रदान कर सम्मानित किया गया। पांचों समितियों के व्यवस्थापकों ने समितियों के नवाचार एवं कार्यकलापों की जानकारी साझा की। इससे पहले अन्तर्राष्ट्रीय सहकारिता दिवस पर मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के संदेश का पाठन रजिस्ट्रार डॉ. नीरज के पवन, सहकारिता मंत्री श्री उदयलाल आंजना के शुभकामना संदेश को अतिरिक्त रजिस्ट्रार (प्रथम) श्री विजय शर्मा तथा प्रमुख शासन सचिव सहकारिता श्री अभय कुमार के शुभकामना संदेश का पाठन अतिरिक्त रजिस्ट्रार (द्वितीय) श्री जीएल स्वामी ने किया। कार्यक्रम में प्रबंध निदेशक अपैक्स बैंक ने बैंकिग क्षेत्र में किये गये नवाचार, महाप्रबंधक राजफैड श्री संजय पाठक ने मार्केटिंग क्षेत्र में, प्रबंध निदेशक, सीसीबी कोटा श्री बलविन्दर सिंह गिल ने उपभोक्ता क्षेत्र में तथा आईसीएम के श्री किशोर सिंह ने प्रशिक्षण में किये गये श्रेष्ठ कार्य एवं नवाचारों से अवगत कराया। कार्यक्रम का शुभांरभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्जवलन कर किया गया। राईसेम के निदेशक श्री बृजेन्द्र राजोरिया ने स्वागत तथा अतिरिक्त रजिस्ट्रार (प्रथम) श्री विजय शर्मा ने सभी का हार्दिक आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का समापन सहकार गीत एवं राष्ट्रगान के साथ किया गया। मंच का संचालन सहायक रजिस्ट्रार, राईसेम श्री रणवीर सिंह ने किया ।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.