मुख पृष्ठ
Home
 
समर्थन मूल्य पर खरीद पंजीकृत किसान अब 18 नवम्बर तक मूल खसरा गिरदावरी अपलोड करा सकेंगे अपलोड नहीं करने वालों के पंजीयन होंगे निरस्त
जयपुर, 13 नवम्बर। राज्य में समर्थन मूल्य पर पंजीकृत किसानों से मूंग, उड़द, मूंगफली एवं सोयाबीन की खरीद की जा रही है इसके लिए किसानों ने 3 अक्टूबर से मूंग एवं उडद तथा 6 अक्टूबर से मूंगफली एवं सोयाबीन के बेचान के लिये पंजीकरण ई-मित्र एवं खरीद केन्द्र के माध्यम से करवाये थे। राजफैड द्वारा रेण्डम जांच में पाया गया कि कई किसानों ने पंजीयन के दौरान मूल गिरदावरी की नकल पी 35 अपलोड नहीं करवाई है। ऐसे किसान अब 18 नवम्बर, 2018 तक मूल खसरा गिरदावरी की नकल अपलोड करवा सकेंगे। यह जानकारी राजफैड की प्रबंध निदेशक डॉ. वीना प्रधान ने मंगलवार को दी। प्रबन्ध निदेशक, राजफैड ने बताया कि प्रदेश के किसानों को पूर्व में 12 नवम्बर तक ई-मित्र या खरीद केन्द्र पर जाकर मूल खसरा गिरदावरी की नकल पी 35 का क्रमांक एवं दिनांक अपलोड करने का समय प्रदान किया गया था लेकिन दीपावली त्यौहार के अवकाश होने से कई किसानों द्वारा गिरदावरी की नकल अपलोड नहीं करवाई गई है। उन्होंने बताया कि 18 नवम्बर तक गिरदावरी अपलोड नहीं करने वाले किसानों के पंजीयन मान्य नहीं होंगे और न ही ऐसे किसानों से खरीद होगी।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.