मुख पृष्ठ
Home
 
प्रदेश में खाद-बीज की नहीं होगी कमी खाद-बीज वितरण में सहकारी संस्थाओं को दिया जायेगा बढ़ावा
जयपुर, 4 अक्टूबर। रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के पवन ने कहा है कि राज्य में क्रय-विक्रय सहकारी समितियां, ग्राम सेवा सहकारी समितियां एवं प्राथमिक तिलहन उत्पादक सहकारी समितियां जैसी सहकारी संस्थाओं के माध्यम से किसानों को उनकी मांग के अनुसार खाद एवं बीज के वितरण को सुनिश्चित किया जायेगा और इस क्षेत्र में सहकारिता को प्रमोट किया जायेगा। डॉ. पवन गुरूवार को सहकारिता मंत्री के निर्देशों में सहकार भवन में कृषि विभाग, राजफैड, तिलम संघ, इफको एवं कृभको के अधिकारियों एवं प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक में प्रदेश में खाद एवं बीज के भण्डारण एवं वितरण की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रबी सीजन में गेहूं, चना, सरसों एवं जौं के बीजों तथा यूरिया एवं डीएपी की उपलब्धता समय पर हो यह सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि रबी सीजन में खाद एवं बीज की कमी नहीं आये इसके लिये कृषि विभाग, राजफैड, इफको एवं कृभको को निर्देश दिये कि समितियों की मांग के अनुरूप सबसे पहले समितियों को खाद और बीज उपलब्ध कराया जाये। उन्होंने तिलम संघ को निर्देश दिये कि तिलम संघ बीज का उत्पादन बढ़ाये। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि सहकारी क्षेत्र के उत्पाद गैर सहकारी क्षेत्रों में नहीं जाये। रजिस्ट्रार ने कहा कि आने वाले समय में जीएसएस एवं केवीएसएस के माध्यम से पूरे प्रदेश में खाद एव बीज का वितरण हो इसके लिये विस्तृत कार्य योजना तैयार की जायेगी तथा समितियों को सक्रिय किया जायेगा जिससे समितियों की आमदनी बढ़ेगी एवं सहकारिता का क्षेत्र मजबूती से आगे बढ़ पायेगा। उन्होंने सहकारी संस्थाओं को निर्देश दिये कि किसी भी परिस्थिति में किसानों को खाद एवं बीज की किल्लत नहीं होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि राज्य में सहकारिता का खाद एवं बीज आपूर्ति के क्षेत्र में 35 से 40 प्रतिशत तक योगदान है जिसे और आगे बढ़ाकर 60 प्रतिशत तक ले जाया जायेगा। उन्होंने इसके लिये सहकारी संस्थाओं को निर्देश दिये कि अभी से कार्य योजना बनाकर घरेलू उत्पादन को बढ़ाया जाये। डॉ. पवन ने बताया कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के द्वारा यूरिया एवं डीएपी का बफर स्टॉक किया जा रहा है। उन्होंने इफको एवं कृभको को भी निर्देश दिये कि समय रहते खाद आपूर्ति राजफैड को कर दी जाये। बैठक में तिलम संघ के प्रबंध निदेशक श्री राम किशोर रैगर, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (द्वितीय) श्री जी एल स्वामी, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (मार्केटिंग) श्री बृजेन्द्र शर्मा, संयुक्त रजिस्ट्रार (मार्केटिंग) श्रीमती सोनल माथुर, कृभको के राज्य विपणन प्रबंधक श्री अनिल सिंह, श्री मामराज चौधरी, इफको के प्रतिनिधि श्री भूपसिंह, राजफैड के महाप्रबंधक श्री अमित शर्मा सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.