मुख पृष्ठ
Home
 
बीकानेर एवं मेड़ता सिटी में बनेंगे सहकारी पोषाहार प्लाण्ट तिलम संघ के खाद्य तेल उत्पादों को बनाया जायेगा सहकारिता का ब्राण्ड
जयपुर, 28 अगस्त। रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री राजन विशाल ने बताया कि तिलम संघ के खाद्य तेल उत्पादों को सहकारिता के ब्राण्ड के रूप में स्थापित किया जायेगा। राज्य के लोगों को शुद्धता एवं गुणवत्ता के खाद्य तेल के रूप में तिलम ब्राण्ड को व्यापक स्तर पर सुलभ कराने के लिये मार्केटिंग पाॅलिसी में परिवर्तन किया जायेगा। श्री राजन मंगलवार को सहकार भवन में तिलम संघ की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तिलम संघ ने खाद्य तेल सोयाबीन, कच्ची घाणी सरसों एवं मूंगफली का उत्पादन एवं प्रसंस्करण कर लोगों के बीच में एक विशिष्ट पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि तिलम संघ की बन्द इकाइयों की स्थापना लागत एवं परिचालन लागत की गणना के लिये पांच सदस्यीय समिति का गठन किया गया है जो पन्द्रह दिनों में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करे। पोषाहार प्लाण्ट संचालन में होगी एसएचजी की भागीदारी प्रशासक, तिलम संघ श्री विशाल ने कहा कि तिलम संघ की बीकानेर एवं मेड़ता सिटी इकाइयों में पोषाहार प्लाण्ट की स्थापना की संभावनाओं को तलाशा जा रहा है। उन्होंने इसके लिये अधिकारियों को विस्तृत डीपीआर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित पोषाहार प्लाण्ट में स्वयं सहायता समूहों की भागीदारी को भी सुनिश्चित किया जायेगा। आॅर्गनिक फार्मिंग उत्पादों की पहुंच होगी व्यापक रजिस्ट्रार ने निर्देश दिये कि तिलम संघ वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुये आॅर्गेनिक फार्मिंग के उत्पादों तक लोगों की व्यापक पहुंच पहुंचाने के लिये इस क्षेत्र में कार्य करें एवं सहकारिता से अधिक से अधिक लोगों को जोड़े। उन्होंने निर्देश दिये कि तिलम संघ अपने उत्पादों को काॅनफैड के माध्यम से उपभोक्ताओं तक पहुंचाने के लिये प्रयास करे। प्रबंध निदेशक, तिलम संघ श्री राम किशोर रैगर ने कहा कि किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर होने वाली खरीद के लिये समय रहते टेण्डर करें एवं टेण्डर प्रक्रिया में एफसीआई एवं दूसरी ऐजेन्सियों द्वारा निर्धारित दरों को भी ध्यान में रखा जाये। उन्होंने कहा कि आगामी खरीद को लेकर एक सप्ताह के भीतर खरीद केन्द्रों का चयन कर लिया जाये।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.