मुख पृष्ठ
Home
 
किसानों को 21.49 करोड़ रुपये के ऋण माफी प्रमाण पत्र हुए वितरित साढे़ सात हजार से अधिक किसानों के चेहरे खिल उठे
जयपुर, 4 जून। प्रदेश में सोमवार को 31 जिलों की एक-एक ग्राम सेवा सहकारी समितियों सहित कुल 31 स्थानों पर आयोजित हुए ऋणमाफी शिविरों में 7543 किसानों का 21.49 करोड़ रुपये का ऋण माफ किया गया है। जिलों में आयोजित कार्यक्रमों में जिला प्रभारी मंत्री, जिला प्रभारी सचिव एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में किसानों को कर्जमाफी के प्रमाण-पत्र दिये गये।यह जानकारी प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि 6077 लघु एवं सीमान्त किसानों के ऋण माफी राशि में 16.52 करोड़ रुपये का मूलधन, 73.22 लाख रुपये ब्याज एवं 11.54 लाख रुपये शास्ति सहित कुल 17.36 करोड़ रुपये का ऋण माफ किया गया है। जबकि 1466 अन्य किसानों का 4.13 करोड़ रुपये का ऋण माफ हुआ। उन्होंने बताया कि श्री गंगानगर एवं हनुमानगढ़ जिलों में आयोजित शिविरों के आंकड़े आने शेष हैं। श्री कुमार ने बताया कि सभी जगह शान्तिपूर्ण ढंग से शिविरों का सफल आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि किसानों को ऋणमाफी प्रमाण पत्र मिलते ही उनके चेहरों पर चमक साफ देखी जा सकती थी। राज्य सरकार की किसान हित में लागू की गई ऋणमाफी योजना से उन्हें संबल तो मिला है और साथ ही आगे पुनः काश्त करने के लिये ऋण स्वीकृत होने से उनकी खुशी दुगुनी हो गई है। रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री राजन विशाल ने बताया कि प्रदेश में 5 जून को भी जिलों की एक-एक ग्राम सेवा सहकारी समिति में ऋणमाफी शिविरों का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 5 जून को पीसांगन (अजमेर), जमालपुर (अलवर), तलवाड़ा (बांसवाड़ा), पलायथा (बारां), सनावड़ा (बाड़मेर), रसिया (भरतपुर), बसेड़ी (धौलपुर), सुवाणा (भीलवाड़ा), 22 केवाईडी (बीकानेर), खटकड़ (बूंदी), डोराई (चित्तौड़गढ़), अचलपुर (प्रतापगढ़), खींवासर (चूरू), पीचूपाड़ा (दौसा), धम्बोला (डूंगरपुर), दुलमाना (हनुमानगढ़), सान्दरसर (जयपुर), हांसवा (जैसलमेर), आकोली (जालौर), बड़ोदिया (झालावाड़), भीमसर (झुंझुनूं), गोपालपुरा (कोटा), तोषीणा (नागौर), दुदौड़ (पाली), मलारना (सवाई माधोपुर), कैलादेवी (करौली), भिराना (सीकर), देलदर (सिरोही), उदयपुर खुशाल (श्रीगंगानगर), मलूकानगर खेड़ा (टोंक), टोड़ा (उदयपुर) व नान्दोनी (राजसमन्द) ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर ऋणमाफी शिविर आयोजित होंगे। उन्होंने बताया कि शिविरों में किसानों को ऋणमाफी प्रमाण पत्र देने के साथ ही नया ऋण भी स्वीकृत किया जा रहा है। ऐसे किसानों को राज सहकार व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना के तहत 10 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 5 जून को आयोजित होने वाले शिविरों की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.