मुख पृष्ठ
Home
 
राज्य के 30 हजार किसानों को 4 व 5 जून को मिलेंगे ऋण माफी प्रमाण-पत्र
जयपुर, 3 जून। प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने रविवार को बताया कि राज्य के लगभग तीस हजार किसानों को 66 ऋण माफी शिविरों में 4 व 5 जून को फसली ऋण माफी प्रमाण-पत्र प्रभारी मंत्रियों एवं प्रभारी सचिवों की उपस्थिति में वितरित किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि 4 जून को 33 एवं 5 जून को 33 ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर शिविर आयोजित किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि 4 जून को लक्ष्मीनाथ (पीसांगन, अजमेर), बहाला (अलवर), नवागांव (बांसवाड़ा), कलवाड़ा (बांरा), आसोतरा (बाड़मेर), बछामदी (भरतपुर), नवाब बसई (धौलपुर), सुवाणा (भीलवाड़ा), जोधासर (बीकानेर), भैंरूपुरा औझा (बूंदी), भदेसर (चित्तौड़गढ़), नाराणी (प्रतापगढ़), सालासर (चूरू), बनियाना (दौसा), गलियाकोट (डूंगरपुर), खोथावाली (हनुमानगढ़), जैतपुरा (जयपुर), चांधन (जैसलमेर), आहोर पश्चिम (जालौर), बकानी (झालावाड़), गुढ़ा गौड़जी (झुंझुनूं), सरेचा (जोधपुर), नान्दना (कोटा), निमोद (नागौर), निमाज (पाली), कुश्तला (सवाई माधोपुर), टोड़ाभीम नौ बिस्वा (करौली), पिपराली (सीकर), मावल (सिरोही), 27जीजी (श्रीगंगानगर), नानेर (टोंक), आसना (उदयपुर) व भाणा (राजसमन्द) ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर ऋण माफी शिविर आयोजित होंगे। रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री राजन विशाल ने बताया कि 5 जून को ऋण माफी शिविर केकड़ी विजयवृहत (अजमेर), जमालपुर (अलवर), तलवाड़ा (बांसवाड़ा), पलायथा (बांरा), सनावड़ा (बाड़मेर), रसिया (भरतपुर), बसेड़ी (धौलपुर), भूणास (भीलवाड़ा), 22 केवाईडी (बीकानेर), खटकड़ (बूंदी), डोराई (चित्तौड़गढ़), अचलपुर (प्रतापगढ़), खींवासर (चूरू), पीचूपाड़ा (दौसा), धम्बोला (डूंगरपुर), दुलमाना (हनुमानगढ़), सान्दरसर (जयपुर), हांसवा (जैसलमेर), आकोली (जालौर), बडोदिया (झालावाड़), भीमसर (झुंझुनूं), बिलाड़ा (जोधपुर), गोपालपुरा (कोटा), तोषीणा (नागौर), दुदौड़ (पाली), मलारना (सवाई माधोपुर), कैलादेवी (करौली), भिराना (सीकर), देलदर (सिरोही), उदयपुर खुशाल (श्रीगंगानगर), मलूकानगर खेड़ा (टोंक), टोड़ा (उदयपुर) व नान्दोनी (राजसमन्द) ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर आयोजित होंगे। श्री विशाल ने बताया कि संबंधित ग्राम सेवा सहकारी समितियों पर आयोजित हो रहे शिविरों की तैयारियां कर ली गई हैं। पात्र किसानों की सूचीयां भी चस्पा हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि गर्मी के मौसम को देखते हुए शिविरों में छाया एवं जल की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने बताया कि पात्र किसानों को प्रमाण-पत्र देने के साथ ही नये ऋण के लिये आवेदन भी लिया जा रहा है ताकि किसान को ऋण राशि भी जारी हो सके।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.