मुख पृष्ठ
Home
 
सहकारी संस्थाओं का ऑडिट हुआ 86 प्रतिशत से अधिक 3.86 प्रतिशत की हुई वृद्धि
जयपुर, 2 मई। रजिस्ट्रार एवं प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने बुधवार को बताया कि मार्च, 2018 को समाप्त हुए वर्ष में प्रदेश की 16 हजार 124 सहकारी संस्थाओं का ऑडिट करवाया गया जो ऑडिट योग्य 18 हजार 742 संस्थाओं का 86.03 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि यह गत वर्ष की तुलना में 3.86 प्रतिशत अधिक है। श्री कुमार ने बताया कि जोधपुर खण्ड 2 हजार 585 सहकारी संस्थाओं में से 2 हजार 489 संस्थाओं का ऑडिट करवाकर प्रथम स्थान पर रहा जबकि जयपुर खण्ड 3 हजार 795 सहकारी संस्थाओं में से 3 हजार 456 संस्थाओं का ऑडिट करवाकर द्वितीय स्थान पर रहा है। उन्होंने बताया कि उदयपुर खण्ड में 87.23 प्रतिशत, अजमेर खण्ड में 84.88 प्रतिशत, बीकानेर खण्ड में 84.48 प्रतिशत, कोटा खण्ड में 84.44 तथा भरतपुर खण्ड में 72.08 प्रतिशत सहकारी संस्थाओं का ऑडिट हुआ है। प्रमुख शासन सचिव ने बताया कि 1 अप्रेल, 2017 को ऑडिट से बकाया रही बैकलॉग की 1819 सहकारी संस्थाओं का प्राथमिकता से ऑडिट करवाया गया है जो ऐसी सोसायटियों का 55.83 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघों एवं प्राथमिक सहकारी भूमि विकास बैंकों का शत प्रतिशत ऑडिट करवाया गया है। श्री कुमार ने बताया कि इस वर्ष ग्राम सेवा सहकारी समितियों का 93.22 प्रतिशत पूर्ण हुआ है जो कि गत वर्ष की तुलना में 0.66 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने बताया कि ऋण असंतुलन वाली ग्राम सेवा सहकारी समितियों का ऑडिट विभागीय ऑडिटरों के माध्यम से कराने का निर्णय किया गया था और ऐसी समितियों का 87.55 प्रतिशत ऑडिट पूर्ण कराया गया है।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.