मुख पृष्ठ
Home
 
किसानों की कर्ज माफी ऎतिहासिक एवं साहसिक कदम -सहकारिता मंत्री
जयपुर, 22 फरवरी। सहकारिता मंत्री श्री अजयसिंह किलक ने गुरुवार को राज्य विधानसभा में बताया कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे की बजट घोषणा में किसानों की कर्ज माफी एक साहसिक एवं ऎतिहासिक कदम है। इससे प्रदेश के 20 लाख से अधिक किसानों को लाभ मिलेगा। श्री किलक ने शून्य काल में इस सम्बन्ध में उठाये गये मुद्दे पर हस्तक्षेप करते हुए कहा कि आजादी के बाद पहली बार इतनी बड़ी मात्रा में केन्द्रीय सहकारी बैंको से जुड़े लघु एवं सीमान्त किसानों के 30 सितम्बर,2017 तक के ओवरड्यू एवं आऊट स्टेन्डिग अल्पकालीन फसली ऋण में से 50 हजार तक के कर्जे माफ होंगे। उन्होंने बताया कि इस निर्णय से सीकर जिले के एक लाख 7 हजार 452 किसानों का 465.48 करोड़ रुपये, झुंझुनूं जिले के एक लाख 18 हजार 541 किसानों का 492.45 करोड़ रुपये, चूरू जिले के 78 हजार 284 किसानों का 185.63 करोड़ रुपये, जयपुर जिले के 92 हजार 136 किसानों का 264.84 करोड़ रुपये एवं दौसा जिले के 92 हजार 856 किसानों का 272.44 करोड़ रुपये का कर्ज माफ होगा। उन्होंने बताया कि आदिवासी जिलों बांसवाड़ा एवं डूंगरपुर के 1.50 लाख से अधिक किसानों का 409 करोड़ रुपये से अधिक का कर्जा माफ हो रहा है। सहकारिता मंत्री बताया कि जबकि यूपीए सरकार के समय हुए कर्ज माफी से सीकर जिले के मात्र 7 हजार 188 किसानों का 15.58 करोड़ रुपये, झुंझुनूं जिले के 2 हजार 525 किसानों का 3.70 करोड़ रुपये, चूरू जिले के 5 हजार 643 किसानों का 4.74 करोड़ रुपये, जयपुर जिले के 10 हजार 311 किसानों का 13.76 करोड़ रुपये एवं दौसा जिले के 9 हजार 444 किसानों का 18.74 करोड़ रुपये का कर्ज माफ हुआ था। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के इस निर्णय से किसानों को बड़ी मात्रा में फायदा पहुंचेगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.