मुख पृष्ठ
Home
 
मुख्यमंत्री की बजट घोषणा किसान कल्‍याण की दिशा में मील का पत्‍थर -सहकारिता मंत्री
जयपुर, 12 फरवरी। सहकारिता एवं गोपालन मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा बजट भाषण में सहकारिता के माध्‍यम से किसानों को दी गई सौगातों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणाएं किसान कल्‍याण की दिशा में मील का पत्‍थर साबित होंगी। इससे किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और सहकारिता के ढ़ाचे को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि श्रीमती राजे की घोषणा किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में सहकारिता के योगदान को रेखांकित करती है। उन्‍होंने कहा कि अब ‘सशक्‍त किसान-विकसित राजस्‍थान’ का सपना साकार हो रहा है। कर्जमाफी किसानों के हित में बड़ा फैसला श्री किलक ने कहा कि बजट में लघु एवं सीमान्‍त कृषकों को राहत प्रदान करने के लिए उनके सहकारी बैंकों में 30 सितम्‍बर, 2017 को बकाया अवधिपार ऋणों पर समस्‍त ब्‍याज एवं शास्तियों को माफ किया गया है। उन्‍होंने कहा कि लघु एवं सीमान्‍त कृषकों के 30 सितम्‍बर, 2017 को बकाया 50 हजार रूपए तक अल्‍पकालीन फसली ऋण को माफ किया गया है। मुख्‍यमंत्री महोदया द्वारा किसानों को दी गई इस राहत से राजकोष पर लगभग 8 हजार करोड़ रूपए का भार पड़ेगा। आयोग के गठन से किसानों को मिलेगी राहत सहकारिता मंत्री ने कहा कि राज्‍य के किसानों को राहत का स्‍थाई समाधान करने के लिए राजस्‍थान राज्‍य कृषक ऋण राहत आयोग का गठन किया जाएगा और यह आयोग स्‍थाई प्रकृति का होगा। उन्‍होंने कहा कि कृषक राहत प्राप्‍त करने के लिए आयोग के सामने अपना पक्ष रख सकता है और आयोग मेरिट के आधार पर कृषक को राहत प्रदान करने के संबंध में निर्णय करेगा। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में आयोग बन जाने से प्रत्‍येक किसान की आवाज को न्‍याय मिल सकेगा। किसानों को अधिक मिलेगा ब्‍याज मुक्‍त फसली ऋण उन्होंने कहा कि श्रीमती राजे ने किसानों को ब्‍याज मुक्‍त फसली ऋण प्रदान करने के लिए केन्द्रीय सहकारी बैंकों को क्षतिपूर्ति ब्याज अनुदान के रूप में 160 करोड़ रुपए उपलब्ध करवाकर सहकारी बैंकों को मजबूती प्रदान की है। इससे बैंक अब किसानों को अधिक मात्रा में आवश्यकतानुसार ऋण उपलब्ध करवा पायेंगे। वहीं रियायती ब्याज पर फसली ऋण के लिए बैंकों को 384 करोड़ रुपए के अनुदान से किसानों को शून्य ब्याज पर अधिक मात्रा में ऋण मिल सकेगा। समर्थन मूल्‍य खरीद से मिलेगा वाजिब दाम सहकारिता मंत्री ने कहा कि राज्‍य सरकार किसानों को उनकी कृषि उपज का वाजिब दाम दिलाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। अभी हमने 2 लाख 93 हजार किसानों से मू्ंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद कर लाभान्वित किया है। बजट में राजफैड को 500 करोड़ रूपए का ब्‍याज मुक्‍त ऋण उपलब्‍ध कराने का निर्णय किया है। मुख्‍यमंत्री श्रीमती राजे द्वारा की गई इस घोषणा से किसानों से सरसों एवं चना की समर्थन मूल्‍य पर खरीद की सुगम व्‍यवस्‍था हो सकेगी। उर्वरकों की होगी सुगम उपलब्‍धता उन्‍होंने कहा कि श्री राजे ने बजट में किसानों को समय पर यूरिया एवं डीएपी की उपलब्‍ध कराने के लिए अग्रिम भण्‍डारण पर 40 करोड़ रूपए का प्रावधान किया है। इससे राज्‍य में 1 लाख 75 हजार मीट्रिक टन यूरिया एवं 50 हजार मीट्रिक टन डीएपी का अग्रिम भण्‍डारण किया जाएगा। श्री किलक ने कहा कि स्पिनफैड की बन्द हुई इकाईयों के श्रमिकों एवं कर्मचारियों के कल्‍याण हेतु संचालित स्‍वैच्छिक सेवानिवृति योजना से शेष रहे 950 श्रमिकों एवं 71 कर्मचारियों के लिए 25 करोड़ रुपए के प्रावधान से उन परिवारों को स्थायित्व मिलेगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.