मुख पृष्ठ
Home
 
सहकारी बैंकों से ऋण लेने वाले सभी किसानों की फसल को लाया जाएगा बीमा के दायरे में
जयपुर, 2 फरवरी। सहकारी बैंकों के माध्यम से कृषि ऋण लेने वाले सभी किसानों की फसल को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के दायरे में लाया जाएगा। इसके लिए एक काश्‍तकार, एक खेत, एक फसल और एक बीमा के विचार को अमलीजामा पहनाया जाएगा। प्रमुख शासन सचिव एवं रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री अभय कुमार शुक्रवार को शासन सचिवालय में विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सहकारी बैंकों द्वारा किए गए फसल बीमा की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। श्री कुमार ने कहा कि सहकारी बैंक एवं कॉमर्शियल बैंक दोनों जगह से ऋण लेने वाले किसानों के मामलों में सहकारी बैंकों द्वारा दिए गए ऋण से उपजाई गई फसल को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के दायरे में लाया जाएगा, जिससे किसान के हित सुरक्षित रह सकें। उन्होंने कहा कि योजना के तहत कृषि ऋण लेने वाले सभी किसानों की फसल का बीमा करवाया जाना अनिवार्य है। इसकी पालना सुनिश्चित की जाए और तय समय में किसान की प्रीमियम राशि बीमा कम्पनी को भिजवा दी जाए। प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि किसानों के प्रीमियम एवं फसल की विगत को ईमित्र केन्द्रों के माध्यम से वेबपोर्टल पर अपलोड किया जाए ताकि तय समय सीमा में अधिक से अधिक किसानों की सूचना बीमा कम्पनी को उपलब्ध हो सके। उन्होंने जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों द्वारा रबी सीजन के लिए किए जा रहे ऋण वितरण की समीक्षा करते हुए कहा कि तय लक्ष्यों के अनुसार किसानों को ऋण वितरण सुनिश्चित किया जाए। श्री कुमार ने कहा कि बैंकों में गैर निष्पादक आस्तियों (एनपीए) में वृद्धि को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों को निर्देश दिए कि वे टीम बनाकर एनपीए में वर्गीकृत प्रकरणों की साप्ताहिक समीक्षा करें और उनकी वसूली सुनिश्चित की जाए और साथ ही ऐसे मामलों में सहकारिता कानून एवं नियमों के अनुसार कार्यवाही करें। प्रमुख शासन सचिव ने सभी जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों में नागरिक शिकायत निवारण केन्द्र गठित करने तथा बांरा, भरतपुर, चुरू, नागौर एवं बूंदी सहकारी बैंकों को डाटा माइग्रेशन ऑडिट पूरा कराने के निर्देश दिए। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में संयुक्त शासन सचिव, सहकारिता श्री सुखवीर सैनी, अतिरिक्त रजिस्ट्रार(प्रथम) श्री जी एल स्वामी, अपेक्स बैंक के प्रबंध निदेशक श्री विद्याधर गोदारा, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (बैंकिंग) श्री एम पी यादव, महाप्रबंधक अपेक्स बैंक श्री पी सी जाटव सहित जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशकों ने भाग लिया।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.