मुख पृष्ठ
Home
 
स्पिनफैड को अवसायन में लाया गया किया जाएगा आस्तियों एवं दायित्वों का निस्तारण -सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक
जयपुर, 30 नवम्बर। सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने गुरूवार को बताया कि स्पिनफैड को अवसायन में लाकर राजफैड की प्रबंध निदेशक डॉ. वीना प्रधान को अवसायक नियुक्त कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि स्पिनफैड की आस्तियों एवं दायित्वों का निस्तारण 3 माह में किया जाएगा। श्री किलक ने बताया कि दिनांक 21 नवम्बर, 2016 को जारी मंत्रिमंडलीय आज्ञा की पालना में घाटे में चल रही स्पिनफैड की गुलाबपुरा, गंगापुर एवं हनुमानगढ़ स्थित सभी इकाइयों को 22 जुलाई, 2017 से बंद (क्लोजर) कर दिया गया था। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने स्पिनफैड की इकाइयों में कार्य रहे श्रमिकों एवं कर्मचारियों के हित में बड़ा फैसला लेकर उन्हें नियमानुसार स्वैच्छिक सेवा निवृति एवं विपरीत प्रतिनियुक्ति देकर अधिकाधिक सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जा रही है। सहकारिता मंत्री ने बताया कि सरकार ने यह निर्णय स्पिनफैड के कर्मचारियों एवं उनके परिवार को ध्यान में रखकर लिया गया है ताकि उनका रोजगार यथावत् रहे एवं जीवन यापन में किसी प्रकार की कठिनाई न हो। उन्होंने बताया कि स्पिनफैड का क्लोजर किए जाने के समय 2 हजार 141 श्रमिक एवं 120 अधिकारी/कर्मचारी कार्यरत थे। जिसमें से 1156 श्रमिकों एवं 49 स्टॉफ कर्मचारियों को स्वेच्छिक सेवा निवृति प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार से 61.85 करोड़ रुपए का ऋण लेकर श्रमिकों एवं कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवा निवृति एवं श्रमिकों को बकाया लेऑफ वेजेज भुगतान कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि योग्यताधारी श्रमिकों 691 श्रमिकों में से 625 श्रमिकों को विपरीत प्रतिनियुक्ति पर शिक्षा विभाग में नियुक्ति प्रदान करवा दी गई है जबकि 35 श्रमिकों को स्वैच्छिक सेवा निवृति प्रदान कर भुगतान कर दिया गया है। श्री किलक ने बताया कि 294 श्रमिक जिन्होंने 240 दिनों तक संस्था में नियमित सेवाएं नहीं दी हैं या न्यूनतम योग्यता धारित नहीं करते हैं ऐसे श्रमिकों को संबंल देने की विभिन्न संभावनाओं पर विचार कर विधि विभाग से राय प्राप्त की जा रही है। श्री किलक ने बताया कि 71 अधिकारी/कर्मचारियों में से 58 कर्मचारी विभिन्न संस्थाओं में प्रतिनियुक्ति पर कार्यरत हैं शेष 13 कर्मचारियों में से स्पिनफैड की सम्पत्तियों की दैनिक देखभाल के लिए आवश्‍यक कर्मचारियों को रोककर शेष कर्मचारियों को भी प्रतिनियुक्ति पर भेजा जाएगा। राजफैड की प्रबंध निदेशक एवं स्पिनफैड की नवनियुक्त अवसायक डॉ. वीना प्रधान ने बताया कि मंत्रिमंडलीय आज्ञा के अनुसार दिए गए निर्णयों तथा सहकारी कानून एवं नियमों के तहत संस्था की सम्पत्तियों एवं दायित्वों का निस्तारण तय समय सीमा में किया जाएगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.