मुख पृष्ठ
Home
 
मूंग खरीद के लक्ष्य में हुई वृद्धि अब 2.74 लाख मैट्रिक टन की होगी खरीद -सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक
जयपुर, 23 नवम्बर। सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने गुरूवार को बताया कि राज्य सरकार के आग्रह पर भारत सरकार द्वारा राज्य में मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीद के लक्ष्य में 1.24 लाख मैट्रिक टन की वृद्धि कर दी है। उन्होंने बताया कि अब 2 लाख 74 हजार मैट्रिक टन मूंग की खरीद की जाएगी। श्री किलक ने बताया कि राज्य में मूंग की बम्पर उपज को देखते हुए एवं किसानों को अधिक से अधिक लाभान्वित करने के उद्देश्यय से भारत सरकार से मूंग की खरीद के लक्ष्यों को बढ़ाने के लिए निरन्तर प्रयास किए जा रहे थे। उन्होंने बताया कि हमने भारत सरकार के समक्ष राज्य का पक्ष मजबूती से रखा उसके उपरान्त भारत सरकार ने राज्य में मूंग खरीद क लक्ष्यों में वृद्धि की है। उन्होंने भारत सरकार द्वारा मूंग खरीद के लक्ष्य में वृद्धि पर संतोष करते हुए बताया कि नए लक्ष्यों से हम अधिक किसानों से उनकी गाढ़े पसीने से उपजाई मूंग को खरीद कर उन्हें संबंल प्रदान कर सकेंगे। दलहन एवं तिलहन की खरीद होगी 6.34 लाख मैट्रिक टन उन्होंने बताया कि राज्य में दलहन एवं तिलहन की समर्थन मूल्य पर खरीद के नए लक्ष्यों के अनुसार अब 1527 करोड़ रुपए की 2.74 लाख मैट्रिक टन मूंग, 324 करोड़ रुपए की 60 हजार मैट्रिक टन उड़द, 457.50 करोड़ रुपए की 1.50 लाख मैट्रिक टन सोयाबीन एवं 667.50 करोड़ रुपए की 1.50 लाख मैट्रिक टन मूंगफली की खरीद की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस प्रकार राज्य में 2976 करोड़ रुपए की कुल 6.34 लाख मैट्रिक टन की दलहन एवं तिलहन की खरीद की जाएगी। एक हजार करोड़ से ज्यादा हो चुकी है अबतक खरीद सहकारिता मंत्री ने बताया कि राज्य में अबतक 1 लाख 3 हजार 986 किसानों से लगभग 1 हजार करोड़ रुपए से अधिक की मूंग, उड़द,सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद की जा चुकी है तथा 741 करोड़ रुपए का भुगतान उनके खातों में ट्रांसफर किया जा चुका है जो कुल खरीद का 74 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सही किसान के खाते में ही राशि ट्रांसफर की जाए इसको सुनिश्चित किया जा रहा है। इसके लिए किसान द्वारा ऑनलाइन पंजीयन के समय दिए गए बैंक खाते पर भुगतान से 48 घण्टे पूर्व तथा भुगतान के बाद पंजीकृत मोबाइल नम्बर पर संदेश भेजे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि यदि किसी किसान को संदेश भेजे जाने के बाद भी बैंक खाते में राशि न आए तो उसे तत्काल टॉलफ्री नम्बर 1800-180-6001 पर सूचित करना चाहिए ताकि ऐसे खातों को सीज करवाया जा सके तथा राशि के दुरूपयोग को रोका जा सके। नागौर जिले में और बनाए 5 मूंग खरीद केन्द्र श्री किलक ने बताया कि इस बार नागौर जिले में मूंग की पैदावार अधिक हुई है जिससे नागौर जिले में ऑनलाइन पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या अधिक होने तथा पूर्व में स्थापित किए गए खरीद केन्द्रों पर कांटों की संख्या में अब इजाफा किया जाना संभव नहीं होने के कारण जिले में मूंग की खरीद हेतु 5 नए केन्द्र स्थापित किए हैं। उन्होंने बताया कि नागौर जिले में चिमराली, रियांबडी, निमोद, नागौर भण्डार एवं मेड़ता में नए केन्द्र बनाए हैं। अब नागौर जिले में मूंग के खरीद केन्द्रों की संख्या बढ़कर 14 हो गई है। प्रमुख शासन सचिव एवं रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री अभय कुमार ने बताया कि राज्य में अबतक 3 लाख 32 हजार 316 किसानों ने समर्थन मूल्य पर अपनी दलहन एवं तिलहन की उपज को बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीयन करवाया है। जिसमें से 1 लाख 58 हजार 61 किसानों को दिनांकों का आवंटन कर दिया है। प्रबंध निदेशक, राजफैड डॉ. वीना प्रधान ने बताया कि 80 हजार 119 किसानों को ऑनलाइन भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि हमारा प्रयास है कि किसान को उपज तुलाने के बाद 3 से 4 दिन में भुगतान कर दिया जाए, हम इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि भारत सरकार की योजना के अनुसार समर्थन मूल्य पर खरीद की प्रक्रिया 90 दिनों तक जारी रहती है। अतः लक्ष्यों के अनुसार खरीद हेतु किसानों की संख्या का आकलन किया जा रहा है। इसके आधार पर पंजीकृत किसानों को दिनांकों का आवंटन किया जाएगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.