मुख पृष्ठ
Home
 
मांगरोल मण्डी में बनेगा सहकारी समिति का नया गोदाम, कार्ययोजना को मिली मंजूरी
जयपुर, 3 नवम्बर। सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने शुक्रवार को बताया कि सहकारी संस्थाओं के लिए सहकारिता सुदृढ़ीकरण कोष योजना के तहत अंता क्रय-विक्रय सहकारी समिति के मांगरोल स्थित कृषि उपज मंडी यार्ड में नए गोदाम निर्माण के लिए 14 लाख रुपए की कार्ययोजना को मंजूरी प्रदान कर दी है। उन्होंने बताया कि सहकारिता सुदृढ़ीकरण कोष से समिति को 70 प्रतिशत राशि के रूप में 9 लाख 80 हजार रुपए का ऋण मात्र 6 प्रतिशत की ब्याज दर पर उपलब्ध कराया जाएगा। श्री किलक ने बताया कि समिति द्वारा मांगरोल कृषि उपज मंडी में गोदाम का निर्माण किए जाने से समिति के कार्य व्यापार में विस्तार हो सकेगा तथा क्षेत्र के किसानों को और अधिक सहकारी सुविधाएं मिल सकेंगी। यह है सहकारिता सुदृढ़ीकरण कोष राज्य सरकार द्वारा स्थापित इस कोष के माध्यम से ऐसी सहकारी संस्थाओं को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाती है जो अपरम्परागत योजनाओं को हाथ में लेकर सहकारी सेवाओं में विस्तार करना चाहती हैं। इस योजना के तहत नए कृषि उत्पादों की मार्केट सपोर्ट करने, नए कार्यक्रमों को वित्तीय सहायता, नवीन दुकानों, शोरूम, व्यावसायिक आउटलेट आदि के निर्माण, चालू व्यावसायिक गतिविधियों के प्रसार, नवीन गोदाम के निर्माण, पुराने गोदाम, दुकान, कार्यालय की मरम्मत एवं विकास, कम्प्यूटर हार्डवेयर एवं मौसमी व्यवसाय हेतु वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। कृषि उत्पादों की मार्केट सपोर्ट करने, नए कार्यक्रमों को वित्तीय सहायता, नवीन दुकानों, शोरूम, व्यावसायिक आउटलेट आदि के निर्माण के लिए इस योजना के तहत सहायता राशि मात्र 4 प्रतिशत ब्याज दर पर तथा शेष कार्यक्रमों के लिए 6 प्रतिशत ब्याजदर पर उपलब्ध कराई जाती है। इस कोष में सहायता राशि अधिकतम 7 वर्ष की अवधि के लिए उपलब्ध कराई जाती है, जिसे 6 समान किश्तों में वापिस लौटाना होता है। योजना के तहत सहकारी संस्था को अधिकतम 20 लाख रुपए स्वीकृत किए जा सकते हैं।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.