मुख पृष्ठ
Home
 
पोस मशीन से ही होगी उर्वरकों की बिक्री
जयपुर, 30 अक्टूबर। सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने सोमवार को बताया कि एक नवम्बर, 2017 से राज्य में उर्वरकों की बिक्री पोस मशीन के माध्यम से ही की जाएगी। उन्होंने बताया कि पात्र व्यक्ति को ही सब्सिडी का फायदा मिल सके इसके लिए भारत सरकार की प्रत्यक्ष लाभ हस्तान्तरण योजना के तहत यह निर्णय किया गया है। श्री किलक ने बताया कि 1 नवम्बर के बाद कोई भी कृषि आदान विक्रेता किसानों को सीधे ही उर्वरक नहीं बेच पाएगा। उन्होंने बताया कि सहकारिता के क्षेत्र में कृषि आदान का व्यवसाय कर रही संस्थाओं क्रय-विक्रय सहकारी समितियों एवं ग्राम सेवा सहकारी समितियों को पोस मशीनों में नए सिरे से स्टॉक का इन्द्राज करने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। रजिस्ट्रार एवं प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने बताया कि उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर लगाई गई पोस मशीनों में नवीनतम सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर भौतिक रूप से उपलब्ध उर्वरक स्टॉक का इन्द्राज करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पोस मशीन के माध्यम से उर्वरकों की बिक्री होने से राष्ट्रीय स्तर पर उर्वरकों की खपत पर निगरानी रखते हुए भविष्य में कृषि क्षेत्र में इनकी उपयोगिता के संबंध में निर्णय में मदद मिल सकेगी। श्री कुमार ने बताया कि उर्वरकों की बिक्री के लिए पोस मशीन के उपयोग से किसानों को उर्वरकों की बेहतर उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था से उर्वरकों पर दी जा रही सब्सिडी के दुरूपयोग पर रोक लगेगी तथा किसान सीधे तौर पर लाभान्वित होगा।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.