मुख पृष्ठ
Home
 
अधिकारी अपनी कार्यप्रणाली को पारदर्शी एवं नियमानुकूल बनाएं- आमजन को नहीं होनी चाहिए किसी प्रकार की समस्या -प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता
जयपुर, 27 जुलाई। प्रमुख शासन सचिव, सहकारिता श्री अभय कुमार ने सहकारिता विभाग एवं संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपनी कार्यप्रणाली को पारदर्शी एवं नियमानुकूल बनाएं ताकि आमजन को किसी प्रकार की समस्या न हो। उन्होंने कहा कि राज सम्पर्क पोर्टल पर परिवादी द्वारा दी गई परिवेदना का त्वरित निस्तारण किया जाए। यदि किसी प्रकरण में परिवादी को अन्य किसी स्तर से अनुतोष मिल सकता हो तो उसके संबंध में उसे अवगत कराया जाए। श्री कुमार गुरूवार को सहकार भवन में राज संपर्क पोर्टल पर लंबित शिकायतों की प्रकरण वार समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने सीएम हैल्पलाईन के संचालन हेतु विभागीय एवं संस्थाओं के स्तर पर प्राप्त हो सकने वाली शिकायत वर्गीकरण के मानकों की एसओपी के संबंध में निर्देश दिए कि शिकायतों का वर्गीकरण सरल होना चाहिए। उन्होंने सभी संस्थाओं के संबंध में एलजी एवं एल-1 से एल-4 तक के स्तरों की मैपिंग के लिए अधिकारियों के दायित्वों को निर्धारित करते हुए निर्देश दिए कि इस संबंध में तत्काल जानकारी सीएम हैल्पलाईन पोर्टल पर अपडेट की जाए। प्रमुख शासन सचिव ने मुख्यमंत्री की बजट घोषणाओं की क्रियान्विति की प्रगति पर असंतोष प्रकट करते हुए निर्देश दिए कि बजट घोषणाओं को शीघ्रता से अमलीजामा पहनाया जाए। उन्होंने झालरापाटन में बनने वाले कोल्ड स्टोरेज के संबंध में शीघ्र प्रोजेक्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बैठक में राजफैड की प्रबंध निदेशक डॉ. वीना प्रधान, संयुक्त सचिव, सहकारिता श्री सुखवीर सैनी, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (प्रथम) श्री जी.एल. स्वामी, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (द्वितीय) श्री सुरेन्द्र सिंह, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (बैंकिंग) श्री राजीव लोचन शर्मा, प्रबंध निदेशक अपेक्स बैंक श्री विद्याधर गोदारा, संयुक्त रजिस्ट्रार (प्लान) श्री संजय गर्ग सहित अन्य जिला प्रभारी एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.