मुख पृष्ठ
Home
 
8 हजार मै.टन क्षमता के 35 गोदामों का होगा निर्माण -सहकारिता मंत्री
जयपुर, 11 जनवरी। सहकारिता एवं गोपालन मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने बताया कि राज्य के किसानों को उनकी आवश्यकता के अनुसार समय पर कृषि आदान यथा-खाद, बीज आदि की सुलभ उपलब्धता के मद्देनजर ग्राम सेवा सहकारी समितियों एवं लैम्पस में 35 गोदामों के निर्माण की स्वीकृति जारी की गई है। उन्होंने बताया कि इससे राज्य में भण्डारण क्षमता 8000 मैट्रिक टन की वृद्धि होगी। 35 गोदामों के निर्माण हेतु 5 करोड़ रुपए की स्वीकृति जारी की गई है। गोदामों का निर्माण राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अन्तर्गत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 35 स्वीकृत गोदामों में से 10 बांसवाडा जिले में, 2 प्रतापगढ़ जिले में, 4 जयपुर जिले में, 4 झालावाड जिले में, 3 नागौर जिले में, 2 सवाई माधोपुर जिले में तथा एक-एक गोदाम चुरू, टोंक, पाली, अजमेर, जोधपुर, झुंझुनु, श्री गंगानगर, जालौर, बाडमेर व राजसमन्द जिले में बनाया जाएगा। श्री किलक ने बताया कि गोदाम निर्माण के कार्य में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए संबंधित केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक को नोडल अधिकारी बनाया गया है। गोदाम निर्माण के लिए निर्माण सामग्री समिति के अध्यक्ष, व्यवस्थापक एवं संबंधित ऋण पर्यवेक्षक की त्रिसदस्यीय कमेटी के माध्यम से क्रय की जाएगी तथा निर्माण कार्य का पर्यवेक्षण केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक एवं इकाई उप रजिस्ट्रार द्वारा किया जाएगा। सहकारिता मंत्री ने बताया कि राज्य में गोदाम एवं कार्यालय भवन का निर्माण अनुमोदित नक्शे के अनुसार अमानी पद्धति पर करवाया जाएगा ताकि स्थानीय स्तर पर रोजगार भी उपलब्ध हो सके तथा राज्य में सभी सहकारी समितियों के गोदाम तकनीकी रूप से सुदृढ़ हों। गोदामों की निर्माण लागत न बढ़े, इसके लिए निर्माण की अवधि चार माह निर्धारित की गई है।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.