मुख पृष्ठ
Home
 
किसान संबल योजना का हुआ सहकार किसान कल्याण योजना में विलय - लाभान्वितों को मिलेगा 2 प्रतिशत ब्याज अनुदान- सहकारिता मंत्री
जयपुर, 4 जनवरी। सहकारिता मंत्री श्री अजय सिंह किलक ने कहा है कि किसानों को फायदा पहुंचानें के उद्देश्य से किसान संबल योजना का सहकार किसान कल्याण योजना में विलय किया गया है। जिससे अच्छे ऋणी किसानों को 2 प्रतिशत ब्याज अनुदान का लाभ होगा। इससे अब किसान को कृषि ऋणों पर मात्र 9.50 प्रतिशत की दर से ब्याज का भुगतान करना पडेगा, जबकि पहले 11.50 प्रतिशत की दर से ब्याज का भुगतान करना पडता था। उन्होंने बताया कि किसान संबल योजना में कृषि ऋणों पर 5 लाख से 20 लाख रुपए तक का ऋण मिलता था, जो अब बढ़कर 10 लाख से 20 लाख रुपए हो गया है। वही किसानों को 5 लाख रुपए तक की साख सीमा ऋण की सुविधा भी प्राप्त होगी। इस कदम से किसानों की साख में वृद्धि की गई है। जहां किसानों को पहले अपनी भूमि की डीएलसी दर का मात्र 50 प्रतिशत ऋण स्वीकृत होता था, जो अब सहकार किसान कल्याण योजना के तहत डीएलसी दर का 70 प्रतिशत तक ऋण मिल सकेगा। इससे प्रदेश के लाखों किसान लाभान्वित होंगे। किसान संबल योजना को चरणबद्ध रूप से सहकार किसान कल्याण योजना में विलय की प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है। श्री किलक ने बताया कि किसान संबल योजना में जिन मदों में किसान को ऋण मिलता था, उन सभी प्रयोजनों में सहकार किसान कल्याण योजना में भी ऋण मिलता रहेगा। अब किसान को कृषि यंत्रीकरण, सिंचाई साधन, बागवानी विकास, डेयरी विकास, चारा संग्रहण एवं भण्डारण सहित प्रयोजनों के लिए अधिक मात्रा मे ऋण मिलेगा एवं ब्याज की राशि भी कम चुकानी पडेगी।
 
 
Site designed & hosted by National Informatics Centre.
Contents provided by Department of Cooperation, Govt. of Rajasthan.